Government Jobs VS. Private Jobs 2021 | Govt. Job & Pvt. Job Benefits

इस आर्टिकल में आपको Government Jobs और Private Jobs के बीच अंतर के बारे में बताया गया है, आप इस आर्टिकल में जानेंगे कि सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी में क्या अंतर है और सरकारी नौकरी या प्राइवेट नौकरी कौन-सा बेहतर है और क्यों, और सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी के फायदें क्या है। 

अगर आपको इन सभी सवालों में उलझन होता है तो काफी हद तक आपको मदद मिलेगी कि आपके लिए कौन-सी नौकरी सबसे अच्छी रहेगी। तो आप बने रहे इस आर्टिकल में और पूरा पढ़े कि जानकारी आपको पूरी मिले ।

Government Jobs VS. Private Jobs 2021 | Government Job and Private Job Benefits

What Is The Difference Between Government Job And Private Job? - सरकारी नौकरी या प्राइवेट नौकरी दोनों में अंतर क्या है?

सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी - आज के समय में व्यक्तिओ के बीच सबसे बड़ा उलझन होता है सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी के बीच में लोग फर्क समझ नहीं पाते है।

एक तरफ सरकारी नौकरी में कॉम्पीटिशन इतना बढ़ रहा है कि सरकारी नौकरी मिलना बहुत मुश्किल हो गया है। वहीं प्राइवेट नौकरी मिलना थोड़ा आसान है लेकिन यहाँ पर आप सिर्फ अपने हुनर के दम पर ही काम कर सकते है, अगर आप में को हुनर नहीं तो आपको प्राइवेट नौकरी में लम्बे समय तक काम करने नहीं दिया जाएगा।

Government Job and Private Job Benefits - सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी फायदे:

#1. Job Security- 

सरकारी नौकरी: सरकारी नौकरी में यह एक अच्छा फायदा है इसमें आपको स्थायी (Permanent) होने के बाद आपको कोई निकाल नहीं सकता है, इसमें आपको अच्छी सैलरी के साथ पेंशन भी उम्र के बाद मिलती है लगभग 60 से 65 के बीच निवृत्ति (retirement) मिल जाती है उसके बाद पेंशन मिलती है।

प्राइवेट नौकरी: प्राइवेट नौकरी में हुनर के हिसाब से काम देते है अगर तुमसे होसियार कोई मिल गया तो कंपनी जरा भी नहीं सोचेगी निकलने से पहले इसलिए प्राइवेट नौकरी अस्थायी (Temporary) काम करना पड़ता है आपने हुनर के बल पर और अच्छा प्रदर्शन दिखा कर सालो तक काम कर सकते हो। 

ये भी पढ़ें-

#2. Promotion & Benefits

सरकारी नौकरी: सरकारी नौकरी में आपको एक निश्चित समय पर प्रमोशन भी मिलता रहता है। जिससे आपकी आय में भी वृद्धि होती रहती है। 

प्राइवेट नौकरी: प्राइवेट नौकरी में आप अपने मालिक की मेहरबानी पर ही निर्भर होते है या फिर आप अपनी काबिलियत के दम पर अपना प्रमोशन पा सकते है अगर आपको प्रमोशन ना मिले तो आप जब चाहे अच्छी सैलरी के लिए अपनी नौकरी बदल सकते है। 

#3. Working Abroad

सरकारी नौकरी: सरकारी नौकरी में तो आप अपने शहर से बाहर भी नहीं जा सकते है। 

प्राइवेट नौकरी: प्राइवेट नौकरी का तीसरा सबसे बड़ा फायदा है कि आप विदेश में भी जाकर नौकरी कर सकते है। 

#4. Holidays

सरकारी नौकरी: भारतीय कैलंडर में जितनी भी छुट्टियाँ होती है, वह सभी छुट्टियाँ सरकारी नौकरी करने वालों को मिलती है, इसके आलावा कोई फालतू छुट्टी नहीं मिलती और अगर आप या आपके परिवार में कोई बीमार है तो आप ऍप्लिकेयन देकर छुट्टी ले सकते है। 

प्राइवेट नौकरी: प्राइवेट नौकरी में आप कभी भी छुट्टी ले सकते है परन्तु आपकी की सैलरी में से कुछ पैसे काट दिए जाएँगे फिर भी आप अपना काम ख़त्म कर छुट्टी ले सकते है। 

#5. Salary

सरकारी नौकरी: सरकरी नौकरी में आपको निश्चित सैलरी मिलती है जो सरकार द्वारा तय की जाती है पद बढ़ने आपकी सैलरी भी बढ़ जाएगी। 

प्राइवेट नौकरी: प्राइवेट नौकरी में आपको मालिक के मुताबिक आपको सैलरी मिलती है और काम अच्छा करने पर पद और सैलरी दोनों की वृद्धि होती है। 

#6. Working Hours

सरकारी नौकरी: सरकारी नौकरी में आपको निश्चित घंटे ही काम करना होता है। और जैसे ही आपका समय ख़त्म हो आप घर जा सकते है आपको कोई नहीं रोक सकता है। 

प्राइवेट नौकरी: प्राइवेट नौकरी में आपको कोई निश्चित समय नहीं मिलता, आप वह जितना देर काम करोगे उतनी सैलरी मिलती है परंतु कुछ प्राइवेट नौकरी आपको निश्चित घंटे ही काम करने की अनुमति देती है। 

#7. Better Facilities 

सरकारी नौकरी: सरकारी नौकरी में काफी सुविधाएं नहीं होती है परन्तु बड़ी सरकारी नौकरी में आपको अच्छी सुविधाएं देखने को मिल जाएंगी और कुछ सरकारी नौकरियों में आपकी सुरक्षा भी प्रदान की जाती है जैसे आईएएस और आईपीएस आदि नौकरियों में। 

प्राइवेट नौकरी: आजकल कई बड़ी प्राइवेट कम्पनियां है जो कई बेहतर सुविधाएं देती है, जो सरकारी नौकरी वालो को नहीं मिलती है। प्राइवेट सेक्टर में रहने के लिए फ्लैट, गाड़ी और खाने की कई सुविधाएँ होती है। 

#8. Enterpreneurship

सरकारी नौकरी: सरकारी नौकरी करने वाले को कोई मोटिवेशन नहीं मिलता क्योंकि वह अपनी सैलरी और पद से बहुत खुश रहता है उसे इससे आगे बढ़ने का आईडिया नहीं आता उसकी सोच एक जगह रुक जाती है।

प्राइवेट नौकरी: प्राइवेट नौकरी में इसका विपरित होता है अगर आप आगे बढ़ना चाहता है तो पैसे बचा कर, आप अनुभव लेकर एक दिन खुद की कंपनी शुरू कर सकते है और बिजनेसमैन बन सकते है।

आपने देखा सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी के अपने-अपने फायदें तो अब आप इनमें से आप क्या चुनते है ये आप पर निर्भर करता है आपका फैसला आपके जीवन का।

Share:

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

please do not enter any spam link in the comment box.And Do not write dirty things.

Popular Posts