Raksha Bandhan 2021: रक्षा बंधन क्या और कब है, अर्थ, शुभ मुहूर्त, राखी बांधने का तरीका क्या है

इस आर्टिकल में आपको Raksha Bandhan 2021 के बारे में बताया गया है, आप इस आर्टिकल में जानेंगे रक्षा बंधन क्या है & रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है, रक्षा बंधन का क्या अर्थ है, रक्षा बंधन कब है, शुभ मुहूर्त कब है, राखी बांधने का तरीका क्या के बारे में है इसीलिए आप आज बने रहे हमारे इस आर्टिकल के साथ और पूरी जानकारी जानकर जाए।  

Raksha Bandhan 2021: रक्षा बंधन क्या और कब है, अर्थ, शुभ मुहूर्त, राखी बांधने का तरीका क्या है

रक्षा बंधन क्या है और रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है?

रक्षा बंधन को राखी का त्योहार भी कहा जाता है मनाए जाने वाला यह त्योहार श्रावण मास (जुलाई / अगस्त) के हिंदू महीने (चंद्र कैलेंडर के अनुसार) की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है यह त्योहार अपनी बहन के लिए एक भाई के प्रेम का आनंद मनाता है। 

रक्षा बंधन के दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधकर उन्हें बुरी शक्तिओ से बचाती हैं और उनकी लंबी उम्र और खुशियों की इच्छा करती हैं।

रक्षा बंधन का क्या अर्थ है?

  • रक्षा शब्द का अर्थ है- सुरक्षा 
  • बंधन शब्द का अर्थ है- बाँधना, बाध्य

रक्षा बंधन 2021 में कब है और कितने बजे से शुरू होगा?

रक्षा बंधन 22 अगस्त के रविवार को है और 21 अगस्त के शाम को शुरू होगा और 22 अगस्त को सर्योदय पर खत्म होगा।

रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त कब है?

रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त/समय 22 अगस्त को: 

  • शुभ समय: सुबह के 05:50 बजे से शाम के 06:03 बजे तक
  • शुभ मुहूर्त: दोपहर के 01:42 बजे से शाम के 04:18 बजे तक है।।

भाई को राखी कैसे बांधते हैं? - राखी बांधने का तरीका क्या है?

यह भी पढ़े

» 15 अगस्त को भारत को स्वतंत्रता कैसे मिली

» KGF Chapter 1 & 2: Story, Cast, Full Form, Teaser, Budget, Release date

» सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी में क्या अंतर है, कौन-सा बेहतर है और क्यों, इसके फायदें

» सामंथा अक्किनेनी की जीवनी, Samantha Akkineni Height, Weight, Age, Husband, Family, Biography & More

बहन राखी की थाली सजा कर उस थाली रोली, कुमकुम, दीपक, अक्षत, मिठाई और राखी रखने के बाद बहन भाई को तिलक लगाकर, बहन भाई के दाहिने या सीधे हाथ में रक्षासूत्र या राखी बांधकर, फिर उसके बाद बहन भाई की आरती उतारने के बाद बहन भाई को मिठाई खिलाएगी फिर राखी बांधने के बाद भाइयों को इच्छा और क्षमता के अनुसार बहनों को उपहार देनी चाहिए।

राखी बंधन में गीत 

Share:

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

please do not enter any spam link in the comment box.And Do not write dirty things.

Popular Posts